विश्वास

0:00
0:00

  • सो विश्वास सुनने से, और सुनना मसीह के वचन से होता है। रोमियों १०:१७
  • तू अपनी समझ का सहारा न लेना, वरन सम्पूर्ण मन से यहोवा पर भरोसा रखना। उसी को स्मरण करके सब काम करना, तब वह तेरे लिये सीधा मार्ग निकालेगा। नीतिवचन ३:५, ६
  • यीशु ने उस से कहा, यदि तू विश्वास कर सकता है, तो विश्वास करनेवाले के लिये सब संभव है। मरकुस ९:२३
  • सो यदि कोई मसीह में है तो वह नई सृष्‍टि है; पुरानी बातें बीत गई हैं, देखो, वे सब नई हो गईं। २ कुरिन्थियों ५:१७
  • किंतु परमेश्वर के लिये कुछ भी असंभव नहीं लूका १:३७
  • ...तुम्हारे विश्वास के अनुसार तुम्हारे लिये हो। मत्ती ९:२९
  • अब विश्वास आशा की हुई वस्‍तुओं का निश्‍चय, और अनदेखी वस्‍तुओं का प्रमाण है। इब्रानियों ११:१
  • पर यदि तुम में से किसी को बुद्धि की घटी हो, तो परमेश्वर से मांगे, जो बिना उलाहना दिए सब को उदारता से देता है और उस को दी जाएगी। पर विश्वास से मांगे, और कुछ सन्‍देह न करे क्‍योंकि सन्‍देह करनेवाला समुद्र की लहर के समान है जो हवा से बहती और उछलती है। ऐसा मनुष्य यह न समझे, कि मुझे प्रभु से कुछ मिलेगा। याकूब १:५-८
  • और विश्वास बिना उसे प्रसन्न करना असंभव है; क्‍योंकि परमेश्वर के पास आनेवाले को विश्वास करना चाहिए कि वह है, और अपने खोजनेवालों को प्रतिफल देता है। इब्रानियों ११:६
  • निदान, जैसे देह आत्मा बिना मरी हुई है वैसा ही विश्वास भी कर्म बिना मरा हुआ है। याकूब २:२६
  • ...और जो कुछ विश्वास से नहीं, वह पाप है। रोमियों १४:२३
  • और मेरा धर्मी जन विश्वास से जीवित रहेगा, और यदि कोई पीछे हट जाए तो मेरा मन उस से प्रसन्न न होगा। इब्रानियों १०:३८
  • वह मुझे घात करेगा, तौभी मैं उस पर विश्वास रखुंगा... अय्युब १३:१५
  • ...शान्त रहने और भरोसा रखने में तुम्हारी सामर्थ है। यशायह ३०:१५
  • यदि हम अविश्वासी भी हों तौभी वह विश्वासयोग्य बना रहता है,क्‍योंकि वह आप अपना इन्‍कार नहीं कर सकता। २ तीमुथियुस २:१३
  • क्‍योंकि जो कुछ परमेश्वर से उत्‍पन्न हुआ है, वह संसार पर जय प्राप्‍त करता है, और वह विजय जिस से संसार पर जय प्राप्‍त होती है हमारा विश्वास है। १ युहन्ना ५:४
  • और उन सब के साथ विश्वास की ढाल लेकर स्थिर रहो जिस से तुम उस दुष्‍ट के सब जलते हुए तीरों को बुझा सको। इफिसियों ६:१६
  • उस ने उन से कहा,अपने विश्वास की घटी के कारण;क्‍योंकि मैं तुम से सच कहता हूं, यदि तुम्हारा विश्वास राई के दाने के बराबर भी हो, तो इस पहाड़ से कहोगे, कि यहां से सरककर वहां चला जा, तो वह चला जाएगा, और कोई बात तुम्हारे लिथे असंभव न होगी। मत्ती १७:२०
  • और विश्वास के कर्ता और सिद्ध करनेवाले यीशु की ओर ताकते रहें जिस ने उस आनन्‍द के लिये जो उसके आगे धरा था, लज्ज़ा की कुछ चिन्‍ता न करके, क्रूस का दुख सहा, और सिंहासन पर परमेश्वर के दाहिने जा बैठा। इब्रानियों १२:२
  • जब हम विश्वास से धर्मी ठहरे, तो अपने प्रभु यीशु मसीह के द्वारा परमेश्वर के साथ मेल रखें। रोमियों ५:१
  • यीशु ने उस को उत्तर दिया, कि परमेश्वर पर विश्वास रखो। मरकुस ११:२२
  • और इस कारण तुम मगन होते हो, यद्यपि अवश्य है कि अब कुछ दिन तक नाना प्रकार की परीक्षाओं के कारण उदास हो। और यह इसलिये है कि तुम्हारा परखा हुआ विश्वास, जो आग से ताए हुए नाशमान सोने से भी कहीं अधिक बहुमूल्य है, यीशु मसीह के प्रगट होने पर प्रशंसा, और महिमा, और आदर का कारण ठहरे। उस से तुम बिन देखे प्रेम रखते हो, और अब तो उस पर बिन देखे भी विश्वास करके ऐसे आनन्‍दित और मगन होते हो जो वर्णन से बाहर और महिमा से भरा हुआ है। और अपने विश्वास का प्रतिफल अर्थात आत्माओं का उद्धार प्राप्‍त करते हो। १ पतरस १:६-९