दावे

0:00
0:00

  • उठ, इस देश की लम्बाई और चौड़ाई में चल फिर; क्योंकि मैं उसे तुझी को दूंगा। उत्पत्ती १३:१७
  • भूमि सदा के लिये तो बेची न जाए: क्योंकि भूमि मेरी है; और उस में तुम परदेशी और बाहरी होगे। लैव्यवस्था २५:२३
  • जिस जिस स्थान पर तुम्हारे पांव के तलवे पड़ेंगे वे सब तुम्हारे ही हो जाएंगे... व्यवस्थाविवरण ११:२४
  • और उस ने मुझे निकालकर चौड़े स्थान में पहुंचाया: उस ने मुझ को छुड़ाया, क्योंकि वह मुझ से प्रसन्न था। २ शमुएल २२:२०
  • मुझ से मांग, और मैं जाति जाति के लोगों को तेरी सम्पत्ति होने के लिये, और दूर दूर के देशों को तेरी निज भूमि बनने के लिये दे दूंगा। भजन २:८
  • तब उन्होंने संकट में यहोवा की दोहाई दी, और उस ने उनको सकेती से छुड़ाया। और उनको ठीक मार्ग पर चलाया, ताकि वे बसने के लिये किसी नगर को जा पहुंचे। भजन १०७:६, ७
  • और जब कभी तुम दहिनी वा बाई ओर मुड़ने लगो, तब तुम्हारे पीछे से यह वचन तुम्हारे कानों में पड़ेगा, मार्ग यही है, इसी पर चलो। यशायाह ३०:२१
  • क्‍योंकि जो कोई मांगता है, उसे मिलता है; और जो ढूंढ़ता है, वह पाता है और जो खटखटाता है, उसके लिये खोला जाएगा। मत्ती ७:७
  • विश्वास ही से इब्राहीम जब बुलाया गया तो आज्ञा मानकर ऐसी जगह निकल गया जिसे मीरास में लेनेवाला था, और यह न जानता या, कि मैं किधर जाता हूं; तौभी निकल गया। इब्रानियों ११:८
  • और सुन, मैं तेरे संग रहूंगा, और जहां कहीं तू जाए वहां तेरी रक्षा करूंगा, और तुझे इस देश में लौटा ले आऊंगा: मैं अपने कहे हुए को जब तक पूरा न कर लूं तब तक तुझ को न छोडूंगा। उत्पत्ती २८:१५
  • सुन, मैं एक दूत तेरे आगे आगे भेजता हूं जो मार्ग में तेरी रक्षा करेगा, और जिस स्थान को मैं ने तैयार किया है उस में तुझे पहुंचाएगा। निर्गमन २३:२०
  • अब तो तू जाकर उन लोगों को उस स्थान में ले चल जिसकी चर्चा मैं ने तुझ से की थी: देख मेरा दूत तेरे आगे आगे चलेगा। निर्गमन ३२:३४
  • यहोवा ने कहा, मैं आप चलूंगा और तुझे विश्राम दूंगा। निर्गमन ३३:१४
  • धन्य हो तू भीतर आते समय, और धन्य हो तू बाहर जाते समय। व्यवस्थाविवरण २८:६
  • वे एक जाति से दूसरी जाति में, और एक राज्य से दूसरे राज्य में फिरते रहे; परन्तु उस ने किसी मनुष्य को उन पर अन्धेर करने न दिया; और वह राजाओं को उनके निमित्त यह धमकी देता था, कि मेरे अभिषिक्तों को मत छुओं, और न मेरे नबियों की हानि करो! भजन १०५:१३-१५
  • तब वे संकट में यहोवा की दोहाई देते हैं, और वह उनको सकेती से निकालता है। वह आंधी को थाम देता है और तरंगें बैठ जाती हैं। तब वे उनके बैठने से आनन्दित होते हैं, और वह उनको मन चाहे बन्दर स्थान में पहुंचा देता है। भजन १०७:२८-३०
  • यहोवा तेरे आने जाने में तेरी रक्षा अब से लेकर सदा तक करता रहेगा। भजन १२१:८
  • यदि मैं भोर की किरणों पर चढ़कर समुद्र के पार जा बसूं, तो वहां भी तू अपने हाथ से मेरी अगुवाई करेगा, और अपने दहिने हाथ से मुझे पकड़े रहेगा। भजन १३९:९, १०
  • मैं तेरे आगे आगे चलूंगा और ऊंची ऊंची भूमि को चौरस करूंगा, मैं पीतल के किवाड़ों को तोड़ डालूंगा और लोहे के बेड़ों को टुकड़े टुकड़े कर दूंगा। मैं तुझ को अन्घकार में छिपा दूंगा, जिस से तू जाने कि मैं इस्राएल का परमेश्वर यहोवा हूं जो तुझे नाम लेकर बुलाता है। यशायाह ४५:२, ३
  • परन्तु तू उन से कह, प्रभु यहोवा यों कहता है कि मैं ने तुम को दूर दूर की जातियों में बसाया और देश देश में तितर-बितर कर दिया तो है, तौभी जिन देशों में तुम आए हुए हो, उन में मैं स्वयं तुम्हारे लिये थोड़े दिन तक पवित्र स्थान ठहरूंगा। यहेजेकेल ११:१६