मातृत्व

0:00
0:00

  • यह तेरे पिता के उस ईश्वर का काम है, जो तेरी सहायता करेगा, उस सर्वशक्तिमान को जो तुझे ऊपर से आकाश में की आशीषें, और नीचे से गहिरे जल में की आशीषें, और स्तनों, और गर्भ की आशीषें देगा। उत्पत्ति ४९:२५
  • और इस्राएल की सन्तान फूलने फलने लगी; और वे अत्यन्त सामर्थी बनते चले गए, और इतना बढ़ गए कि कुल देश उन से भर गया। निर्गमन १:७
  • और वह तुझ से प्रेम रखेगा, और तुझे आशीष देगा, और गिनती में बढ़ाएगा...तू सब देशों के लोगों से अधिक धन्य होगा; तेरे बीच में न पुरूष न स्त्री निर्वंश होगी व्यवस्थाविवरण ७:१३, १४
  • > क्या वह उसका बनाने वाला नहीं जिस ने मुझे गर्भ में बनाया? क्या एक ही ने हम दोनों की सूरत गर्भ में न रची थी? अय्युब ३१:१५
  • उसका वंश पृथ्वी पर पराक्रमी होगा; सीधे लोगों की सन्तान आशीष पाएगी। भजन ११२:२
  • वह बांझ को घर में लड़कों की आनन्द करने वाली माता बनाता है। याह की स्तुति करो! भजन ११३:९
  • देखे, लड़के यहोवा के दिए हुए भाग हैं, गर्भ का फल उसकी ओर से प्रतिफल है। भजन १२७:३
  • मेरे मन का स्वामी तो तू है, तू ने मुझे माता के गर्भ में रचा। भजन १३९:१३
  • क्योंकि उस ने तेरे फाटकों के खम्भों को दृढ़ किया है, और तेरे लड़के बालों को आशीष दी है। भजन १४७:१३
  • वह चरवाहे की नाईं अपने झुण्ड को चराएगा, वह भेड़ों के बच्चों को अंकवार में लिए रहेगा और दूध पिलाने वालियों को धीरे धीरे ले चलेगा। यशायाह ४०:११
  • क्योंकि मैं प्यासी भूमि पर जल और सूखी भूमि पर धाराएं बहाऊंगा; मैं तेरे वंश पर अपनी आत्मा और तेरी सन्तान पर अपनी आशीष उण्डेलूंगा। वे उन मजनुओं की नाईं बढ़ेंगे जो धाराओं के पास घास के बीच में होते हैं। यशायाह ४४:३, ४
  • गर्भ में रचने से पहिले ही मैं ने तुझ पर चित्त लगाया, और उत्पन्न होने से पहिले ही मैं ने तुझे अभिषेक किया; मैं ने तुझे जातियों का भविष्यद्वक्ता ठहराया। यर्मियाह १:५
  • और धन्य है, वह जिस ने विश्वास किया कि जो बातें प्रभु की ओर से उस से कही गई, वे पूरी होंगी। लूका १:४५
  • विश्वास से सारा ने आप बूढ़ी होने पर भी गर्भ धारण करने की सामर्थ पाई, क्‍योंकि उस ने प्रतिज्ञा करने वाले को सच्‍चा जाना था। इब्रानियों ११:११
  • और उस ने मुझे निकालकर चौड़े स्थान में पहुंचाया, उस ने मुझ को छुड़ाया, क्योंकि वह मुझ से प्रसन्न था। भजन १८:१९
  • अपना कान मेरी ओर लगाकर तुरन्त मुझे छुड़ा ले! भजन ३१:२
  • यहोवा के डरवैयों के चारों ओर उसका दूत छावनी किए हुए उनको बचाता है। भजन ३४:७
  • हे यहोवा, कृपा करके मुझे छुड़ा ले! हे यहोवा, मेरी सहायता के लिये फुर्ती कर! भजन ४०:१३
  • मैं तो दीन और दरिद्र हूं, तौभी प्रभु मेरी चिन्ता करता है। तू मेरा सहायक और छुड़ानेवाला है; हे मेरे परमेश्वर विलम्ब न कर। भजन ४०:१७
  • और संकट के दिन मुझे पुकार, मैं तुझे छुड़ाऊंगा, और तू मेरी महिमा करने पाएगा। भजन ५०:१५
  • मूर्छा खाते समय मैं पृथ्वी की छोर से भी तुझे पुकारूंगा, जो चट्टान मेरे लिये ऊंची है, उस पर मुझ को ले चल। भजन ६१:२
  • उस ने जो मुझ से स्नेह किया है, इसलिये मैं उसको छुड़ाऊंगा; मैं उसको ऊंचे स्थान पर रखूंगा, क्योंकि उस ने मेरे नाम को जान लिया है। भजन ९१:१४
  • ...धर्मी का वंश बचाया जाएगा। नीतिवचन ११:२१
  • वह थके हुए को बल देता है और शक्तिहीन को बहुत सामर्थ देता है। तरूण तो थकते और श्रमित हो जाते हैं, और जवान ठोकर खाकर गिरते हैं; परन्तु जो यहोवा की बाट जोहते हैं, वे नया बल प्राप्त करते जाएंगे, वे उकाबों की नाई उड़ेंगे, वे दौड़ेंगे और श्रमित न होंगे, चलेंगे और थकित न होंगे। यशायाह ४०:२९-३१
  • उनका परिश्रम व्यर्थ न होगा, न उनके बालक घबराहट के लिये उत्पन्न होंगे; क्योंकि वे यहोवा के धन्य लोगों का वंश ठहरेंगे, और उनके बाल बच्चे उन से अलग न होंगे। यशायाह ६५:२३
  • उसकी पीड़ाएं उठाने से पहले ही उस ने जन्मा दिया; उसको पीड़ाएं होने से पहिले ही उस से बेटा जन्मा। यहोवा कहता है, क्या मैं उसे जन्माने के समय तक पहुंचाकर न जन्माऊं? तेरा परमेश्वर कहता है, मैं जो गर्भ देता हूं क्या मैं कोख बन्द करूं? यशायाह ६६:७, ९
  • जब स्त्री जनने लगती है तो उस को शोक होता है, क्‍योंकि उस की दु:ख की घड़ी आ पहुंची, परन्‍तु जब वह बालक जन चुकी तो इस आनन्‍द से कि जगत में एक मनुष्य उत्‍पन्न हुआ, उस संकट को फिर स्मरण नहीं करती। युहन्ना १६:२१
  • तुम किसी ऐसी परीक्षा में नहीं पड़े, जो मनुष्य के सहने से बाहर है; और परमेश्वर सच्‍चा है, वह तुम्हें सामर्थ से बाहर परीक्षा में न पड़ने देगा, बरन परीक्षा के साथ निकास भी करेगा, कि तुम सह सको। १ कुरिन्थियों १०:१३
  • और उस ने मुझ से कहा, मेरा अनुग्रह तेरे लिये बहुत है; क्‍योंकि मेरी सामर्थ निर्बलता में सिद्ध होती है। इसलिये मैं बड़े आनन्‍द से अपनी निर्बलताओं पर घमण्‍ड करूंगा, कि मसीह की सामर्थ मुझ पर छाया करती रहे। २ कुरिन्थियों १२:९
  • हम भले काम करने में हियाव न छोड़े, क्‍योंकि यदि हम ढीले न हों, तो ठीक समय पर कटनी काटेंगे। गलातियों ६:९
  • जो मुझे सामर्थ देता है उस में मैं सब कुछ कर सकता हूं। फिलिप्पियों ४:१३
  • तौभी बच्‍चे जनने के द्वारा उद्धार पाएंगी, यदि वे संयम सहित विश्वास, प्रेम, और पवित्रता में स्थिर रहें। १ तिमुथियुस २:१५
  • और उस ने मुझे निकालकर चौड़े स्थान में पहुंचाया, उस ने मुझ को छुड़ाया, क्योंकि वह मुझ से प्रसन्न था। भजन १८:१९
  • अपना कान मेरी ओर लगाकर तुरन्त मुझे छुड़ा ले! भजन ३१:२
  • यहोवा के डरवैयों के चारों ओर उसका दूत छावनी किए हुए उनको बचाता है। भजन ३४:७
  • हे यहोवा, कृपा करके मुझे छुड़ा ले! हे यहोवा, मेरी सहायता के लिये फुर्ती कर! भजन ४०:१३
  • मैं तो दीन और दरिद्र हूं, तौभी प्रभु मेरी चिन्ता करता है। तू मेरा सहायक और छुड़ानेवाला है; हे मेरे परमेश्वर विलम्ब न कर। भजन ४०:१७
  • और संकट के दिन मुझे पुकार, मैं तुझे छुड़ाऊंगा, और तू मेरी महिमा करने पाएगा। भजन ५०:१५
  • मूर्छा खाते समय मैं पृथ्वी की छोर से भी तुझे पुकारूंगा, जो चट्टान मेरे लिये ऊंची है, उस पर मुझ को ले चल। भजन ६१:२
  • उस ने जो मुझ से स्नेह किया है, इसलिये मैं उसको छुड़ाऊंगा; मैं उसको ऊंचे स्थान पर रखूंगा, क्योंकि उस ने मेरे नाम को जान लिया है। भजन ९१:१४
  • ...धर्मी का वंश बचाया जाएगा। नीतिवचन ११:२१
  • वह थके हुए को बल देता है और शक्तिहीन को बहुत सामर्थ देता है। तरूण तो थकते और श्रमित हो जाते हैं, और जवान ठोकर खाकर गिरते हैं; परन्तु जो यहोवा की बाट जोहते हैं, वे नया बल प्राप्त करते जाएंगे, वे उकाबों की नाई उड़ेंगे, वे दौड़ेंगे और श्रमित न होंगे, चलेंगे और थकित न होंगे। यशायाह ४०:२९-३१
  • उनका परिश्रम व्यर्थ न होगा, न उनके बालक घबराहट के लिये उत्पन्न होंगे; क्योंकि वे यहोवा के धन्य लोगों का वंश ठहरेंगे, और उनके बाल बच्चे उन से अलग न होंगे। यशायाह ६५:२३
  • उसकी पीड़ाएं उठाने से पहले ही उस ने जन्मा दिया; उसको पीड़ाएं होने से पहिले ही उस से बेटा जन्मा। यहोवा कहता है, क्या मैं उसे जन्माने के समय तक पहुंचाकर न जन्माऊं? तेरा परमेश्वर कहता है, मैं जो गर्भ देता हूं क्या मैं कोख बन्द करूं? यशायाह ६६:७, ९
  • जब स्त्री जनने लगती है तो उस को शोक होता है, क्‍योंकि उस की दु:ख की घड़ी आ पहुंची, परन्‍तु जब वह बालक जन चुकी तो इस आनन्‍द से कि जगत में एक मनुष्य उत्‍पन्न हुआ, उस संकट को फिर स्मरण नहीं करती। युहन्ना १६:२१
  • तुम किसी ऐसी परीक्षा में नहीं पड़े, जो मनुष्य के सहने से बाहर है; और परमेश्वर सच्‍चा है, वह तुम्हें सामर्थ से बाहर परीक्षा में न पड़ने देगा, बरन परीक्षा के साथ निकास भी करेगा, कि तुम सह सको। १ कुरिन्थियों १०:१३
  • और उस ने मुझ से कहा, मेरा अनुग्रह तेरे लिये बहुत है; क्‍योंकि मेरी सामर्थ निर्बलता में सिद्ध होती है। इसलिये मैं बड़े आनन्‍द से अपनी निर्बलताओं पर घमण्‍ड करूंगा, कि मसीह की सामर्थ मुझ पर छाया करती रहे। २ कुरिन्थियों १२:९
  • हम भले काम करने में हियाव न छोड़े, क्‍योंकि यदि हम ढीले न हों, तो ठीक समय पर कटनी काटेंगे। गलातियों ६:९
  • जो मुझे सामर्थ देता है उस में मैं सब कुछ कर सकता हूं। फिलिप्पियों ४:१३
  • तौभी बच्‍चे जनने के द्वारा उद्धार पाएंगी, यदि वे संयम सहित विश्वास, प्रेम, और पवित्रता में स्थिर रहें। १ तिमुथियुस २:१५